Featured post

Drifting

Falling freely through seas of emptiness. Tossing, turning, drifting, lifeless. At the speed of light. Lost all count of time. Seeping thro...

Thursday, 26 January 2012

अन-सुनी कहानी

सोच के तुझको
कुछ देर मैं दिल के अँधेरे में झाँक लेता हूँ .

फिर देखकर तुझको
कुछ देर मैं खुदको पा लेता हूँ.

करता हूँ बातें तेरे साथ मैं इतनी,
हस के तेरे साथ मैं फिर से जी लेता हूँ..

तू वो पहचान हैं मेरी जो कोई नहीं जानता..

तू वो मुस्कान हैं मेरी जो कोई नहीं समझ पाता..

तू वो अन-सुनी कहानी हैं मेरी जो शायद कभी ना ख़तम होगी..

तू वो फ़रियाद हैं मेरी जो शायद खुदा को अब तक ना पोह्ची होगी..


नहीं होगा ख़तम
तुझसे मेरा रिश्ता कभी..

जुड़ गयी-सी हैं तारें
मेरे दिल की कुछ तुझसे युही..

तू वो गीत हैं मेरा जो ये दिल हमेशा गुन गुनायेगा..

तू वो धड़कन हैं मेरी जो मेरे सिवा कोई और ना महसूस कर पायेगा...

4 comments:

  1. Somethings waiting for you on my blog :)

    ReplyDelete
  2. Bahot khoob :)

    Why don't you use hindi text?

    ReplyDelete
  3. philo!!!! - u made my day, my month.. i mean,,, its an inspiration to go on tat uv given me... m really happy.. dnt knw wat to say...

    chints- bohot bohot shukriya aapka :))
    - request u to pls help me on how to use hindi text..

    ReplyDelete